अमेरिका समेत तीन देशों की यात्रा संपन्न कर स्वदेश लौटे पीएम मोदी

नीदरलैंड के हेग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया. यहां पीएम ने 3 हजार भारतीयों को संबोधित किया. नीदरलैंड का दौरा संपन्न कर पीएम मोदी बुधवार सुबह स्वदेश लौट आए. इस दौरे में पीएम मोदी ने पुर्तगाल, अमेरिका और नीदरलैंड की यात्रा की और तमाम द्विपक्षीय और वैश्विक मुद्दों पर इन देशों के नेताओं के साथ बातचीत की.

पीएम ने यहां कहा कि पासपोर्ट का रंग बदलने से खून के रिश्ते नहीं बदलते. पूरे यूरोप में नीदरलैंड वह देश है जहां दूसरे सबसे ज्यादा भारतीय प्रवासी हैं. पासपोर्ट का रंग कोई सा भी हो, हमारे पूर्वज एक हैं. सालों बाद भी प्रवासी भारतीयों में देश जिंदा है. हर हिंदुस्तानी दुनिया के हर कोने में राष्ट्रदूत हैं. जो जड़ों से जुड़ा हो उसे कोई नहीं हिला सकता. भारत का कर्ज चुकाने से बड़ी कोई देशभक्ति नहीं है. हमारे बीच में दूरी नहीं है. मेरे देश में सवा सौ करोड़ लोग देश चलाते हैं. जनभागीदारी से देश कई गुना प्रगति कर सकता है, तेज गति से प्रगति कर सकता है.

  • नई सरकार ने जनभागीदारी को प्राथमिकता दी
  • विकास और गुड गर्वेंनेंस से जनता की समस्याएं सुलझती हैं
  • आज दाल के भाव इतने कम हो गए कि कोई पूछता ही नहीं है
  • किसानों ने दाल की खेती बढ़ाई तो सस्ती हुई गरीब की थाली
  • खेती की महिलाओं की भागीदारी बढ़ी
  • भारत की विकास यात्री में महिलाओं की भागीदारी
  • जन धन खातों में ज्यादातर महिलाओं के खाते खुले
  • मुद्रा योजना से जॉब मांगने वाला जॉब देने वाला बने
  • 7 करोड़ लोगों ने मुद्रा योजना का फायदा उठाया
  • मुद्रा योजना का लाभ लेने वालों में 70 फीसदी महिलाएं
  • कामकाजी महिलाओं को 26 हफ्ते की मैटरनिटी लीव दी
  • सुरक्षा के क्षेत्र में भी महिलाओं की भूमिका बढ़ी है
  • खेलों में भी महिलाओं ने कमाल किया
  • हमारे स्पेस वैज्ञानिकों ने 104 सैटेलाइट एक साथ छोड़ी
  • हमारे यहां महिलाएं फाइटर प्लेन उड़ा रही हैं
  • विकास के लिए गति को तेज करना जरूरी हो गया है
  • देश को आगे ले जाना काफी नहीं, आधुनिक बनाना जरूरी हो गया है
  • भारत में विश्व की बराबरी का सामर्थ्य होना चाहिए
  • हमने सदियों से मेगावॉट से ज्यादा नहीं सोचा था
  • 13-14 हजार गांवों में बिजली पहुंच गई है
  • जब सरकार बनी थी, तब 18 हजार गांवों में बिजली नहीं थी
  • 2.5 लाख पंचायतों में ऑपटिकल फाइबर का काम जारी है
  • डच नागरिकों को 5 साल का बिजनेस वीजा देने पर भी विचार
  • सोलर एनर्जी से देश आत्मनिर्भर बनेगा

जब डोनाल्‍ड ट्रंप ने कहा, ‘पीएम मोदी और मैं सोशल मीडिया के वैश्विक नेता हैं’

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और खुद को ”सोशल मीडिया का वैश्विक नेता” बताया. उन्होंने सोशल मीडिया और ऑनलाइन प्लेटफार्म पर लोगों की जोरदार फालोइंग का उल्लेख करते हुये कहा कि इसके जरिये अब वे अपने नागरिकों की बात सीधे सुन सकते हैं.

ट्रंप ने व्हाइट हाउस के रोज गार्डन में मोदी के साथ पहली द्विपक्षीय बातचीत के बाद अपनी टिप्पणी में कहा, ”मैं मीडिया, अमेरिका और भारत के लोगों के सामने गर्व के साथ यह घोषणा करता हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मैं सोशल मीडिया के वैश्विक नेता हैं.” ट्रंप ने कहा, ”हम भरोसा करने वाले लोग हैं. हम देश के नागरिकों को अपने निर्वाचित प्रतिनिधियों से सीधे बातचीत करने का मौका देते हैं. मुझे लगता है कि सोशल मीडिया ने दोनों देशों में बहुत अच्छा काम किया है.”

ट्रंप सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर लगातार सक्रिय रहने और कभी कभार विवादास्पद ट्वीट करने के लिये जाने जाते हैं, जबकि ट्विटर और फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर मोदी के भी जबर्दस्त फालोअर हैं.

ट्विटर पर ट्रंप के कुल फालोअर 3.28 करोड़ हैं, जबकि मोदी 3.1 करोड़ फालोवरों के साथ ट्रंप के बहुत करीब पहुंच गये हैं. इसी तरह फेसबुक पर मोदी 4.18 करोड़ फालोअरों के साथ ट्रंप से आगे निकल चुके हैं, जहां ट्रंप के कुल फालोअर 2.36 करोड़ हैं.

भारत और अमेरिका का सख्‍त संदेश : पाकिस्‍तान अपनी धरती से होने वाले आतंकी हमले रोके

पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए आज भारत और अमेरिका ने उससे यह सुनिश्चित करने को कहा कि उसकी धरती का इस्तेमाल सीमा पार आतंकी हमलों के लिए नहीं हो. इसके साथ ही दोनों देशों ने पाकिस्तान से कहा कि वह मुंबई हमलों और पठानकोट में हुए आतंकी हमले के साजिशकर्ताओं को जल्द न्याय के कठघरे में लाए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकवाद से लड़ने और आतंकियों की शरणस्थलियों को नष्ट करने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों को मजबूत करने का भी संकल्प लिया.

मोदी ने व्हाइट हाउस में ट्रंप के साथ अपने संयुक्त संबोधन में संवाददाताओं से कहा, ”आतंकवाद का खात्मा हमारी शीर्ष प्राथमिकताओं में शामिल है.” दोनों नेताओं के बीच बैठक के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों पक्षों ने ”पाकिस्तान से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा कि वह अपनी धरती का इस्तेमाल अन्य देशों के खिलाफ आतंकी हमलों के लिए न होने दे.”

पाकिस्तान से यह भी कहा गया कि वह ”पाकिस्तान आधारित आतंकी समूहों की साजिश वाले 26/11 मुंबई हमलों, पठानकोट हमले और सीमापार से अन्य आतंकी हमलों के साजिशकर्ताओं को शीघ्रता से न्याय के कठघरे में लेकर आए.” प्रधानमंत्री ने कहा, ”हमने आतंकवाद, चरमपंथ और कट्टरपंथ के बारे में बात की और हम इसके खिलाफ सहयोग करने के लिए सहमत हुए. आतंकवाद से लड़ना, आतंकियों की शरणस्थलियों को नष्ट करना हमारे सहयोग का अहम हिस्सा होगा.” ट्रंप ने कहा कि दोनों देश आतंकी संगठनों को और उन्हें संचालित करने वाली चरमपंथी विचारधारा को नष्ट करने के लिए ‘संकल्पबद्ध’ हैं.

उन्होंने कहा, ”अमेरिका और भारत के बीच सुरक्षा साझेदारी बेहद अहम है. दोनों देश आतंकवाद का शिकार हैं और हम दोनों ही देश आतंकी संगठनों को एवं उन्हें संचालित करने वाली चरमपंथी विचारधारा को नष्ट करने के लिए प्रतिबद्ध हैं. हम चरमपंथी इस्लामी आतंकवाद को नष्ट कर देंगे.” विदेश सचिव एस जयशंकर ने कहा कि दोनों देशों ने अपने संयुक्त बयान में कहा कि आतंकवाद एक वैश्विक बुराई है, जिससे विश्व के हर हिस्से में लड़ा जाना चाहिए और अमेरिका तथा भारत एक साथ मिलकर यह काम करेंगे.

पीएम मोदी ने राष्‍ट्रपति ट्रंप को सपरिवार भारत आने का न्‍योता दिया, बेटी इवांका ने आमंत्रण स्‍वीकारा

पीएम नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की पहली मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति ट्रंप को सपरिवार भारत आमंत्रित किया. उन्होंने डोनाल्‍ड ट्रंप की बेटी इवांका द्वारा न्‍योता स्वीकार करने पर उनका आभार व्यक्त किया. इवांका ने भी बाद में ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी का आभार व्‍यक्‍त करते हुए कहा,

”भारत में होने वाले वैश्विक उद्यमशीलता सम्‍मेलन में अमेरिकी डेलीगेशन की अगुआई के लिए आमंत्रण देने पर प्रधानमंत्री मोदी का शुक्रिया.”

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का व्हाइट हाउस में जोरदार स्वागत किया. साझा बयान के दौरान डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत और अमेरिका सच्चे दोस्त हैं. उन्होंने पीएम मोदी से कहा कि व्हाइट हाउस में भारत का एक सच्चा दोस्त है. ट्रंप ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश के नेता से मिलना सम्मान की बात है. उन्होंने भारत की आजादी के 70 साल पूरे होने पर बधाई दी. अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि अमेरिका से भारत 100 विमान खरीदेगा.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘वह इतने महान प्रधानमंत्री हैं. मैं उनके साथ बात करता रहा हूं और उनके बारे में पढ़ता रहा हूं. वह बहुत अच्छा काम कर रहे हैं.’ ट्रंप ने कहा, ‘आथर्कि रूप से और कई अन्य मायनों में भारत अच्छा प्रदर्शन कर रहा है. मैं इसके लिए उन्हें बधाई देना चाहूंगा.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘महान प्रधानमंत्री’ की संज्ञा देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उनके साथ द्विपक्षीय संबंधों को आगे बढ़ाने के तरीकों पर चर्चा की. यह वार्ता ऐसे समय में हुई, जब अमेरिका ने हिजबुल मुजाहिदीन प्रमुख सैयद सलाहुद्दीन को वैश्विक आतंकवादी घोषित करके पाकिस्तान को एक कड़ा संदेश दे दिया है.

पीएम मोदी ने अपने वक्‍तव्‍य में कहा कि आतंकवाद जैसी वैश्विक चुनौतियों से अपने समाजों की सुरक्षा अमेरिका और भारत की सबसे बड़ी प्राथमिकताओं में से एक है. क्योंकि विश्व के दो विशाल लोकतंत्रों का साझा सशक्तिकरण हमारा साझा उद्देश्य है. हमारी ऐसी मजबूत सामरिक भागेदारी है कि मानव प्रयासों से लगभग सभी क्षेत्रों स्पर्श किया है.

व्हाइट हाउस में पीएम नरेंद्र मोदी बोले, आतंकवाद से लड़ाई सबसे बड़ी प्राथमिकता

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने व्हाइट हाउस में मुलाकात के बाद साझा बयान दिया. इसमें भारत पीएम नरेंद्र मोदी ने व्हाइट हाउस में स्वागत किए जाने पर अमेरिकी राष्ट्रपति का दिल से आभार व्यक्त किया. उन्होंने कहा, ‘राष्ट्रपति ट्रंप और मेरे बीच बातचीत अत्यंत महत्वपूर्ण रही है. क्योंकि यह बातचीत परस्पर विश्वास पर आधारित थी. बातचीत के केंद्र में हमारे मूल्य, प्राथमिकताएं और चिंतन शामिल थे. क्योंकि दोनों देशों और समाजों का चौमुखी आर्थिक विकास तथा इनकी सांझी प्रगति राष्ट्रपति ट्रंप और मेरा मुख्य लक्ष्य था.’

पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद जैसी वैश्विक चुनौतियों से अपने समाजों की सुरक्षा अमेरिका और भारत की सबसे बड़ी प्राथमिकताओं में से एक है. क्योंकि विश्व के दो विशाल लोकतंत्रों का साझा सशक्तीकरण हमारा साझा उद्देश्य है. हमारी ऐसी मजबूत सामरिक भागेदारी है कि मानव प्रयासों से लगभग सभी क्षेत्रों स्पर्श किया है.

उन्होंने कहा कि यह यात्रा दोनों देशों के इतिहास में महत्वपूर्ण पृष्ठ साबित होगी. उन्होंने कहा कि दोनों देश आगे आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए सहभागी हैं. दोनों देशों के बीच आतंकियों से लड़ना, आतंकवाद की सुरक्षित पनाहगाहों से निपटना, आतंकवाद से जुड़ी सूचनाओं का आदान-प्रदान करने पर चर्चा हुई. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत-अमेरिका के बीच अफगानिस्तान के आतंकवाद पर भी चर्चा हुई. दोनों ही देश वहां के आतंकवाद को लेकर चिंतित हैं. अफगानिस्तान में सुरक्षा-शांति बढ़ाना और वहां के विकास के लिए दोनों देश परस्पर सहयोग बनाए रखेंगे.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देश ग्लोबल इंजन ऑफ ग्रोथ हैं और मेरा न्यू इंडिया का विजन तथा राष्ट्रपति ट्रंप का ग्रेट अमेरिका का विजन, दोनों एक जैसे ही हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्रपति ट्रंप को सपरिवार भारत आमंत्रित किया. उन्होंने ट्रंप की बेटी द्वारा न्यौता स्वीकार करने पर उनका आभार व्यक्त किया.